नीट परीक्षा की तयारी कैसे करे

दोस्तो पढाई के क्षेत्र में हर साल नये नये एक्सपिरिमेंट हो रहे है. आने वाले समय में एक्झाम का पॅटन भी बदल रहा है. 13 सितम्बर को मेडिकल पढाई के लिए महत्वपूर्ण मानी जानेवाली neet exam होने जा रही है. आइए जानते है neet exam preparation के बारे मे.

दोस्तो पढाई के क्षेत्र मे हर किसी को यह लगता है की हमे अच्छे मार्क्स मिलने चाहिये. डॉक्टर इंजीनियरिंग जैसे क्षेत्र में हमारा नंबर लग्ना चाहिये इसलिये छात्र जी तोड मेहनत करते है. मेडिकल के प्रवेश के लिये neet exam पास होना बहुत जरुरी है. हम जानते है neet exam कैसे होती है यह परीक्षा पास होने के लिए क्या तयारी करनी होती है.

देशभर के छात्र देते है एक्झाम

Neet exam preparation करने के लिए देशभर के छात्र लग गये है. आपको यह बता दे की देशभर के छात्र यह एक्झाम देते है. इस बार कोरोना के चलते neet exam की तारीख दो बार बदली गई है. एक्झाम की तारीख बदलणे से छात्रो की मानसिकता पर परिणाम होता है. अब यह परीक्षा 13 सितम्बर को होने जा रही है. इस परीक्षा को देने के लिए क्या तयारी करणी चाहिये आई हम जानते है.

Syllabus की पूरी जानकारी ले

मेडिकल क्षेत्र मे जाने के लिए यह परीक्षा अनिवार्य होती है. यदि आपको neet exam preparation करणा हो तो आपको परीक्षा का syllabus पुरी तरह मालूम होना चाहिये. इसलिये सिलेबस की पूरी जानकारी देने के बाद ही छात्र अपना फोकस परीक्षा पर रख सकते है. यदि आप सिलॅबस के बाहर जाकर पढाई करते हो तो आप अपना समय बरबाद कर रहे होंगे.

खुद अपने नोट्स बनाये

यह परीक्षा छात्रो के करियर मे महत्त्वपूर्ण होती है. Neet exam preparation यदि ठिकसे करणी होतो आपको खुद अपने नोट्स बनाने चाहिये. छात्र यदि खुद नोट्स बनाता है तो उसे हर विषय की जानकारी अच्छे से होगी. और नोट्स बनाते वक्त जो भी पढा जायेगा वह उसे अच्छी तरह से याद रहेगा.

कमजोर टॉपिक पर ध्यान दे

इस परीक्षा मे छात्र को कमजोर विषयी उपर अधिक ध्यान देना चाहिये. Neet exam preparation करते वक्त यदी हम कमजोर विषय की और ध्यान नही देते है तो परीक्षा मे हमे यही सब्जेक्ट तकलीफ देते है. कोई विषय यदि आपको समज नही आ रहा है तो आप उसे बार बार पढे. उसके नोट्स निकाले. किसी अच्छे टीचर से सलाह ले सकते है.

परीक्षा के लिए रणनीती बनाये

यदि आप बिना रणनीती बनाये परीक्षा दोगे तो आपको जो नंबर मिलेगे उसमे आपका समाधान नही होगा. पहिले से तय कर लीजिये आप को परीक्षा मे कितने मार्क्स लाना है. यह तय करने के बाद neet exam preparation करे. रणनीति बनाते वक्तआपकी दिनचर्या और विषयों कोलेकर टाइम टेबल बनाये. और यह टाइम टेबल आप जहा पढाई करते हो वहा पर लगाये.

Sample पेपर लिखते रहे

आज कल इंटरनेट पर ढेर सारी परीक्षा के बारे मे जानकारी उपलब्ध है. आप इंटरनेट की सहायता से neet exam preparation कर सकते है. इंटरनेट पर मौजूद नीट परीक्षा के सॅम्पल पेपर आप बार बार लिखते रहे. ऐसा करने से आपको यह पता चलेगा की पेपर छुडाने के लिए आपको कितना समय लगता है. और आप को यह भी पता चलेगा की आपकी तयारी कितनी है.

हर विषय का ज्ञान ले

यह परीक्षा देणे के लिए छात्र को हर विषय का ज्ञान अच्छी तरह से होना आवश्यक है. Neet exam preparation करते वक्त आपको विज्ञान के सभी तथ्य समजना आवश्यक होगा. इस्लिये आपको हर टॉपिक शांतता से और मन लगाकर पडना चाहिये. इसके साथ ही आप एक्झाम के लिये टाईम मॅनेजमेंट बी करे. कोन से subject को आपको कितना समय देना है यह तय कर लीजिये. प्रश्न का हल आप तेजी से निकालने की कोशिश करे. इससे आप का टाइम बचेगा.

क्या है neet exam pattern

सितंबर की 13 तारीख को पूरे देश मे यह परीक्षा हो रही है. हम जानते है neet exam pattern. यदि आप को कोई भी परीक्षा अच्छे मार्क्स से पास होना है तो आपको परीक्षा का पॅटर्न समझना बहुत जरुरी है. Neet exam preparation करते समय आपको परीक्षा का पॅटर्न जा नना चाहिये.
इस परीक्षा मे Objective Type के 180 प्रश्न आते है. जिसमें बॉटनी से 45 प्रश्न, भौतिकी से 45 प्रश्न, रसायन विज्ञान से 45 प्रश्न और जंतु विज्ञान से 45 पूछे जाते है. आपको यह बता दे की नीट परीक्षा negative marking की होती है.
सही उत्तर के आपको 4 अंक मिलेंगे और एक गलत उत्तर का 1 अंक काटा जाएगा. परीक्षा का समय 3 घंटे का रहेगा.

जानते है neet counselling के बारे मे

मीट एक्झाम देने के बाद आपको counselling की प्रक्रिया से गुजरना होता है. जानते है इसके बारे मे.
काउंसलिंग प्रक्रिया ऑनलाइन मोड के माध्यम से आयोजित की जाती है.
15% अखिल भारतीय कोटा सीटों के लिए काउंसलिंग का संचालन स्वास्थ्य सेवा महानिदेशालय की चिकित्सा परामर्श समिति द्वारा किया जाता है.
राज्य स्तरीय काउंसलिंग, राज्य काउंसलिंग अथॉरिटीज के द्वारा अलग से आयोजित की जाती है.
कॉलेजों में सीटें छात्रों की योग्यता, केटेगरी और उपलब्धता के अनुसार आवंटित की जाती है.

काउंसलिंग की बेसिक प्रक्रिया

काउंसलिंग के लिए उम्मीदवारों को ऑनलाइन पंजीकरण करना होगा.
ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होने के बाद, आप अपनी पसंद के अनुसार पाठ्यक्रम और कॉलेज का चयन कर सकते है.
सीट आवंटन की प्रक्रिया आपकी रैंक और ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन के दौरान भरे गए विकल्पों के आधार पर तीन राउंड में आयोजित की जाएगी.
अधिकांश संस्थान एक केंद्रीकृत काउंसलिंग प्रक्रिया का पालन करते है जबकि कुछ की अपनी काउंसलिंग प्रक्रिया हो सकती है.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

eighteen + one =