कोरोना संकट के दौरान अभिनेता सोनू सूद ने जरूरतमंदों की कई मदद की है.  फंसे हुए नागरिकों को उनके गाँवों में भेजने का बडा कार्य किया है.  सोनू ने अपना ध्यान विदेश में फंसे भारतीयों पर केंद्रित किया है. कुछ दिनों पहले, सोनू किर्गिस्तान में फंसे लगभग 6,000 छात्रों को भारत वापस लाये थे. अब रूस में फंसे 101 छात्रों को भारत लाने के लिये sonu sood सोनू सूदने मदत की है.

sonu sood है पंजाब के

sonu sood का जन्म 30 जुलाई 1973 को पंजाब में हुआ, लेकिन बाद में उच्च शिक्षा के लिए वो नागपुर स्थापित हो गये. जहाँ के यशवंतराव चव्हाण अभियांत्रिकी महाविद्यालय में वो मॉडलिंग में भाग लेने लग गये. उनके पिता एक एंटरप्रेन्‍योर तो वहीं उनकी मां अध्‍यापिका थीं. उनकी दो बहनें भी हैं.

sonu sood की दरियादिली

अभिनेता के रूप मे परदे पर विलेन का रोल निभाने वाले सोनू वास्तविक जीवन के असली हिरो है. कोरोन के काल मे उनकी सामाजिक प्रतीभा खूल के सामने आई है. इस दौरान sonu sood सोनू ने लोगो की खुल के मदत की.

sonu sood ने की हजारो की मदत

कोरोन के चलते लॉकडाउन के पहले चरण मे अंतरराज्यीय और रेल सेवाएं बंद कर दी गई थीं. इसकी वजह से बड़ी संख्या में मज़दूर पैदल ही अपने घरों को जाने से के लिए मजबूर हो गए थे. ऐसे संकट में सोनू सूद sonu sood ने उत्तर प्रदेश सरकार से ख़ास अनुमति लेकर प्रवासी मज़दूरों को घर पहुंचाने के लिए कई बसों का इंतज़ाम करवाया. इससे पहले उन्होंने कर्नाटक के कई मज़दूरों को घर पहुंचाने के लिए बसों का इंतज़ाम कराया था.

विदेश मे भी दिया हाथ

कोरोना की वजह से कई देशों में तालाबंदी है. इस दौरान, सब कुछ बंद है और अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें भी बंद हैं. इस संकट के दौरान विदेश में फंसे भारतीयों को देश वापस लाने में मदद sonu sood मदत कर रहे है. रूस में फसे लगभग 101 मेडिकल छात्रों को लाने के लिये उड़ान भरी. ये छात्र सुरक्षित लौट आए हैं. इनमें से 100 छात्र चेन्नई के और 1 छात्र दिल्ली का है. अब  ये छात्र क्वारंटाइन हैं. इस बीच, जरूरतमंदों की मदद करने के लिये  सोनू ने www.pravasirozgar.com नामक एक वेब साईट बनाई है. जिसकी मदत से वह  लोगो की मदत करते है. कंपनी लगभग 3 लाख श्रमिकों को रोजगार देगी.

sonu sood के सम्मान मे बनी डीश

sonu sood के सामाजिक कार्य को देखते हुये मशहूर शेफ़ विकास खन्ना ने उनका शुक्रिया अदा किया है. उनके सम्मान में एक डिश बनाई है. खन्ना ने कहा ”सोनू सूद, आप हमें अपने कार्य से रोज़ प्रेरित करते हैं. इस वक़्त मैं आपके काम के सम्मान में कुछ बनाकर आपको खिला नहीं सकता लेकिन मैं अपनी एक नई डिश आपको भेज रहा हूं. इस डिश का नाम मैंने मोगा रखा है.” सोनू सूद पंजाब के मोगा ज़िले से ताल्लुक रखते हैं.

सोनू की फिल्मे

sonu sood का बॉलीवूड से कोई रिश्ता नही था. उन्होने अपने दम पर यहा अपना मकाम बनाया है. सोनू की कुछ फिल्मे… शहीदे-ए-आजम, युवा, चंद्रमुखी, आशिक बनाया आपने, जोधा अकबर, सिंह इज किंग, एक विवाह ऐसा भी, अरूंधति, दबंग, बुड्ढा होगा तेरा बाप, शूटआऊट एट वडाला, रमैया वस्तावैयया, आर राजकुमार, इंटरटेनमेंट, हैप्‍पी न्‍यू ईयर, गब्‍बर इज बैक, दबंग 3 आदि.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

nineteen − 5 =