बचपन मे जब हम रोते थे तब हमे मा चॉकलेट देती थी. Chocolate मिलने के बाद हम भी मुस्कुरा उठते थे. आज भी किसी भी खुशी के मोके पर या बेवजह हम chocolate खाना पसंद करते है. Chocolate बच्चों को सबसे अधिक प्रिय होता है. किसी भी समय वह बडे ्चावसे चॉकलेट खाते है. विश्व स्तर पर chocolate day मनाया जाता है. 7 जुलै को यह दिवस मनाया जाता है. आइए जानते है chocolate day के बारे मे.

Chocolate day history

इतिहास के पन्नों को पलट कर जब हम देखते है तब मे बहुत सी अच्छी जानकारी हासिल होती है. आज भी जब chocolate dayकी बात करते है तो इतिहास हमे कुछ रोचक जानकारी देता है. Coco का दूसरा सबसे बडा उत्पादक देश पश्चिम आफ्रिकी घाना 14 फरवरी को चॉकलेट दिवस मनाता है. Lata villa mein 11जुलाई को chocolate day मनाया जाता है.22 सितम्बर को white chocolate day और 16 डिसेंबर को chocolate covering anything day मनाया जाता है. विश्व चॉकलेट डे का चलन लगभग साडेचार हजार साल पुराना है एेसा माना जाता है.

Chocolate tree: चॉकलेट का पेड
अमेरिका के घने जंगल में एक विशिष्ट पेड की बीज को चॉकलेट के स्वरूप प्रथम इस्तेमाल किया गया. इस बीज को इस्तेमाल करने मे Mexico and America सबसे आगे थे. Spain के राजाने 1528 मे मेक्सिको पर कब्जा कर लिया. इसी दौरान राजा को मेक्सिको का को बहुत पसंद आया. Spain के राजा यह को को अपने साथ ले गये. राजा अपने रोज के खाने मे कोका का समावेश करणे लगा. देखते ही देखते Spain मे चॉकलेट लोगो का पसंदीदा बन गया.

Chocolate था तीखा

आपको यह जांकर है रानी होगी की शुरुवात मे चॉकलेट मीठा नही बल्की तिखा था. Coco के बीज को पिस्कर पावडर बनाया जाता था. उसके तीखे पन को दूर करने के लिए इसे पानी मे घोलकर शहद और अन्य चीजे मिलाकर cold coffee पेय बनाया जाता था. लोग ई से बडे चाव से पिते थे. लोगो को यह बहुत पसंद आया था. इसके बाद एक अंग्रेज डॉक्टर sir Hans sloane ने south America का दोरा किया. उन्होने cold coffee की न ई रेसिपी तयार की और इसका नाम रखा Cadbury milk chocolate. लेकिन आपको यह बता दे की मिल्क काभी स्वाद कुछ तीखा था.

Europe made sweet chocolate: यूरोप ने चॉकलेट को बनाया मीठा

Conrod hotan ने 1828 मे coco press नाम का मशीन तयार किया. जिसमे chocolate alkaline salt मिलाकर इसके तिखे पण को कम किया गया. ब्रिटिश चॉकलेट कंपनी प्राईज अँड सन्स ने 1848 मे पहिली बार को खोने बटर दूध और शक्कर मिलाकर इसे मीठे चॉकलेट मे तब्दील कर दिया. जिसे खाना खाने के बाद लोग खाने को पसंद करने लगे.

Chocolates real facts : कुछ रोचक तथ्य

चॉकलेट में मौजूद केमिकल्स की वजहसे हमारा मूड अच्छा हो जाता है. चॉकलेट खाने के बाद हमे खुशी महसूस होती है.

Chocolate मे tryptophanका इस्तेमाल किया जाता है जो हमारे मस्तिष्क के Indorefin को प्रभावित करता है और हमे आनंद उत्साह मेहसुस होने लगता है.

बचपन मे हमे बार बार यह बताया जाता है की जादा चॉकलेट खाने से हमारे दात खराब हो जायेंगे. कुछ हद तक यह बात सही है लेकिन चॉकलेट में मौजूद कोको अगर शुद्ध हो तो दात खराब होने की संभावना कम हो जाती है.

दुनिया मे बनने वाली चॉकलेट की आधी कपत अकेले अमेरिका मे ही हो जाती है.अमेरिका मे हर परिवार चॉकलेट बडे ्चाव से खाता है

यदी हम डार्क चॉकलेट का सेवन करते है तो heart disease के होने का खतरा कम होने की संभावना निर्माण होती है.

दुनिया मे उगणेवाली मूँगफली का 20 प्रतिशत और बादाम का 40 प्रतिशत इस्तेमाल chocolate मे किया जाता है.

चॉकलेट जितना मीठा और स्वाद भरा होता है उतना ही उसके इस्तेमाल की जानकारी रसिली है. आज भी हम खुशी के मोके पर चॉकलेट का भरपूर इस्तेमाल करते है. बच्चों से लेकर बुढो तक सभी को chocolate पसंद आती है.यदि आपको कोई किसी भी वक्त चॉकलेट ऑफर करता है तो आप उसे मनाना नही कर सकते है यही चॉकलेट की यशस्विता का प्रमाण माना जाता है. और हम बडे चाव से कहते है चलो कुछ मिठा हो जाये.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

14 + twelve =