Coronavirus की वजहसे पुरी दूनिया के लोग परेशान है. Coronavirusका सामना करने के लिए दुनिया के विशेषज्ञ प्रयत्न कर रहे है. बडी बडी औषधी कंपनी medicine बनाने मे लगी हुई है.आपको यह बता दे कि हम जो दैनंदिन खाने मे मसालो का इस्तेमाल करते है वह हमारे शरीर के लिए बहुत बडी उपयुक्त मेडिसिन है. हमारे घर केरसोई मे जो मसाले उपयोग मे लगाये जाते है उसमे लौंग काभी समावेश किया जाता है.आपको यह जानकर हैराणी होगी Clove stop virus अधिक उपयुक्त औषधी है.

किसी कारण वस हम जब भी मार पडते है तब हमारे नाक, कान, जीभ और पुरे बदन मे दर्द रहता है. इन सभी प्रक्रियाओं में, आम आदमी कुछ ऐसा चाहता है जो केवल जीभ पर और मुंह में रखा जा सकता है, ताकि रोगाणु कान, नाक, गले, आंखों और मस्तिष्क को नियंत्रित न कर सकें. ये जादू की औषधि है लौंग.

Clove stop virus लौंग के उपयोग

लौंग मूल रूप से एक antioxid medicine औषधीय एंटीऑक्सिडेंट है. लौंग एक natural antibiotic प्राकृतिक एंटीबायोटिक भी है.
लौंग bacteria बैक्टीरिया और विषाक्त पदार्थों को मारता है जो शरीर में बाहर से प्रसारित होते हैं.

लौंग पित्त, कफ और पेट फूलने के तीन प्रकोप शांत करता है.

इसलिए, फेफड़ों के माध्यम से गले में प्रवेश करने वाले बलगम को कफ के अंदर पतला किया जाता है और मल द्वारा दूर किया जाता है.

इसी प्रकार, पेट में उत्पन्न पित्त और इसके प्रकोप से उत्पन्न गैस भी शरीर में विषाक्त पदार्थों के प्रकोप से होने वाली एक बीमारी है।

ऐसे खाद्य पदार्थ जो पचाने में कठिन होते हैं, जैसे कि आटा और मांसाहारी, मादक खाद्य पदार्थ, यकृत और आंतों में विघटित होते हैं, अम्लीय प्रक्रियाओं और पित्त के प्रकोप का कारण बनता है, साथ ही साथ दस्त और उल्टी भी होती है.

लौंग खाने या उन्हें मुंह में रखणे से पित्ताशय की पथरी के साथ-साथ गैस को भी नियंत्रित करता है. Clove stop virus के माध्यम से शरीर से विषाक्त पदार्थों और सड़े हुए भोजन को बाहर निकाल ने मे अहम् भूमिका निभाता है.

इसलिए सबसे पहले सिर्फ लौंग को मुंह में दबाकर रखें जीस से गला साफ रहता है. श्वास खुला रहता है. आंखों से आंसू नहीं बहते. दिमाग ठीक से काम करता है. Clove stop virus कामकाजी मस्तिष्क हृदय और अन्य अंगों को ठीक से काम करने में मदद करता है.

Clove best medicine


हमारे शरीर के लिए Clove stop virus बहुत उपयुक्त medicine है. लौंग का नित्य सेवन करणे से शरीर की लगभग सभी बिमारियो पर नियंत्रण किया जा सकता है. श्वसन विकार, दृष्टि विकार, हृदय विकार
पेट-आंतों के विकार, गुर्दे की बीमारी, मूत्राशय के विकार, रीढ़ की हड्डी के रोग, पूरे शरीर से लगभग 2400 प्रकार के विकार दूर हो जाते हैं.

दोस्तो हमारा प्राचीन ayurved ऐसेही घरेलू medicine से उपयुक्त है. हमारे घर मे ही उपयुक्त औषधिया मौजूद है जो बडी बडी बिमारियो में हमे आसानीसे राहत दिला सकती है.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

three × one =