आज के दोर मे हमे depression शब्द बार-बार सुनने को मिलता है. अभी हालही मे अभिनेता सुशांत सिंग राजपूतने अपने कमरे मे आत्महत्या की थी. जीसकी वजह depression बतायी जा रही है. हॉलीवुड के साथ बॉलीवुड के भी कुछ कलाकार depression की चपेट में आये दिखते है. कुछ दिन पहले अभिनेत्री विद्या बालन और दीपिका पादुकोण ने भी इसके बारे मे जिक्र किया है. तो चले जानकारी लेते है depression के बारे मे.

आज की आधुनिक जीवन शैली मे हमने कई तरह के तनाव निर्माण कर लिये है, जिनका सीधा असर हमारी जिंदगी पर पडता है. लेकिन रोज की भागदोड  मे हम उसके तरफ कभी खयाल देते नही. Depression हमारे मानसिक स्वास्थ्य को हानी पोहोचता है. किसी बातो मे हमारा मन लगता नही..

बच्चे भी पीडित है Depression से

Depression इस बिमारी से आज बडे लोग तो पीडित है ही साथ ही बच्चे भी इसका शिकार होने लगे है. बच्चों मे भी कई प्रकार के टेन्शन हमे देखने को मिलते है जिसकी वजह से वह depression मे आ जाते है. बच्चो मे स्कूल का टेन्शन होमवर्क का टेन्शन माता पिता द्वारे स्कूल मे जादा अंक लाने की स्पर्धा और मन के विरुद्ध कार्य होने पर बच्चे डिप्रेशन मे आ जाते है. डिप्रेशन मे आये हुए बच्चोका मानसिक स्वास्थ्य बिघडत आ जाता है. 

डिप्रेशन के लक्षण

Depression इस बिमारी का शिकार कोई भी व्यक्ति किसी भी उमर मे हो सकता है. बच्चे जवान और बुढे पुरुष और महिला सभी डिप्रेशन की बिमारी का शिकार हो सकते है. कोई व्यक्ति डिप्रेशन मे है यह किस तरह जान सकते है यह जानना अत्यंत आवश्यक है. 

इस बिमारी से ग्रसित व्यक्ती कही बार खुद में उत्साह की कमी को महसूस करता है उसे नया कुछ करने की उम्मीद नही रहती है.

भूक तथा निंद की कमी हो जाती है, किसी बात का हमेशा डर रहता है.

जिम्मेदारी का निर्वाह करने में उसे परेशानी होती है, मन की एकाग्रता कम होने लगती है.

शरीर में दर्द तथा शरीर भारी होने लगता है, दुनिया मे अपना कोई नही है ऐसी भावना बढने लगती है.

शरीर में कही भी दर्द होने लगता है और कभी कभी मन मे आत्महत्या की भावना बढने लगती है.

यह सारे डिप्रेशन के शारीरिक व मानसिक लक्षण बताये जाते है. डिप्रेशन का कारण मस्तिष्क में सिरोटोटीन, नार एन्द्रणलीन, dopamin, आदी न्युरो ट्रान्स मिटर की कमी मानता है. डिप्रेशन में मुख्य रूप से वात दोष की अधिकता होने से यह रोग बढता है.

क्या है Depression के लिए उपाय

आप को जानकर  हैरानी होगी डिप्रेशन के लिए हमारे योगशास्त्र मे काफी अच्छे उपाय और आसन दिये गये है. सबसे पहले तो हमारी मदत के लिए आता है प्राणायाम. नियमित प्राणायाम का अभ्यास करणे से हम चूनोतियो का स्वीकार करणे लगते है उनसे लढने लगते है. इसके साथ नही हम मनो चिकित्सक के पास जाकर उन की सलाह ले सकते है. 

यदी हम सकारात्मक सोच रखते है तो डिप्रेशन हमसे काफी दूर रहेगा

हमारे आसपास मौजूद लोगो से खुलकर संवाद करणा चाहिये बात करना चाहिए.

छोटी छोटी चीजो मे खुशिया धुंड ने की कोशिश करना चाहिये

खुद के लिए समय निकालकर अपनी मन पसंद चीज करना चाहिये फिल्म देखना चाहिए या किताब पढना चाहिये या संगीत सु नना चाहिये.

संतुलित आहार का सेवन करना चाहिये सामाजिक उपक्रम मे सहभाग लेना चाहिये.

अभी आप देखोगे ऑल बॉलीवुड के बडे बडे कलाकार भी डिप्रेशन के शिकार हो जाते है उसका कारण नही है कि वह खुद को अकेला महसूस करते है ऐसा लगता है कि अपना कोई नही है सुशांत सिंह राजपूत दीपिका पादुकोण विद्या बालन जैसे कलाकार डिप्रेशन का शिकार हुए है.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

1 Comment

  1. Pingback: Immunity power - World Truth Blog

Write A Comment

16 − 14 =