इंडोनेशिया के करन्सी पर गणपती

भारत की प्राचीन परंपरा और सभ्यता दूनिया के सभी देशो को मार्गदर्शन करती है. इसी लिये दुनिया भर में अपने देश की संस्कृती और धार्मिकता को अपनाया जा रहा है. आपको यह बता देखी इंडोनेशिया ने अपने करन्सी पर गणेश जी की तस्वीर लगाई थी. Ganpati on currency इसके बारे मे जानते है विस्तार से.

पूरे देश मे गणेश उत्सव का आयोजन किया जा रहा है. कोरोना का काल होते हुए भी सब तरफ उत्साह का वातावरण तयार हो गया है. अपने देश के साथ ही कुछ देशो मे गणेश जी के मंदिर देखे गये है. इंडोनेशिया, नेपाल, थायलंड आदी देशमे विभिन्न आकार के गणेश जी पाये जाते है.

इंडोनेशिया कि करन्सी पर गणेश जी

भगवान गणेश जी आद्य पूजक माने जाते है. कोई भी शुभ कार्य करणे से पहले गणेश जी का पूजन किया जाता है. भारत के साथ साथ पूरी दुनिया मे गणेश जी के उपासक हमे देखने को मिलते है. गणेश जी की उपासना सब तरफ होती है इसका उदाहरण अगर देखणा होतो हमे इंडोनेशिया कि करन्सी देखने होगी. Ganpati on currency हमे इंडोनेशिया मे देखने को मिलेगी.

मुस्लिम आबादीवाला देश

आपको यह जानकर है रानी होगी कि इंडोनेशिया मे मुस्लिम आबादी ज्यादा है. फिर भी इंडोनेशिया के करन्सी पर Ganpati on currency हो ना यह आश्चर्य की बात है. गणेश जी को करन्सी पर स्थान देणे के संदर्भ मे इंडोनेशिया मे कहानी प्रचलित है, हम जानते है, क्या है वो कहानी.

भारत इंडोनेशिया संस्कृती एक जैसी

भारतीय संस्कृती की धारा ये पुरी देश मे दुनिया में हम देख सकते है. भारत की धर्म की बाते पुरे विश्व मे फैली हुई है. इसका प्रमाण हमे बहुत बार मिल चुका है. इंडोनेशिया और भारत की संस्कृति मे हमे बहुत सी समानता दिखाई पडती है. यहा पर कोई हिन्दू देवी देवताओं की पूजा भी की जाती है. इसीलिये Ganpati on currency का निर्णय इंडोनेशिया सरकारने लिया. इंडोनेशिया यह मलेशिया और ऑस्ट्रेलिया के बीच हजारो द्वीपों फैला हुआ है.

कला और बुद्धी के देवता है गणेश

महाभारत मे गणेश जी को कला और बुद्धि का देवता माना जाता है वही पर इंडोनेशिया मे गणेश जी को कला और बुद्धि का देवता माना जाता है. इसलिए जब भी कोई ई संस्कृती कार्यक्रम का आयोजन होता है तब सबसे पहले यहा पर गणेश जी का पूजन किया जाता है.

Ganpati on currency

इंडोनेशिया के करन्सी पर गणेश जी की छावली आने के पीछे भी कुछ महत्वपूर्ण कारण है. Ganpati on currency का निर्णय इंडोनेशिया सरकारने क्युलिया इसके पीछे की कहानी हम जानते है. कुछ वर्ष पहले इंडोनेशिया की अर्थव्यवस्था लड खडाने लगी, अर्थव्यवस्था को ठीक करने के लिए हे गणेश जी की प्रतिमा करन्सी पर लाने का निर्णय लिया गया. आपको बता दे जिस करन्सी पर गणेश जी की प्रतिमा अंकित की गई थी उसका मूल्य rs.20000 था. 1998 मीः नोट जारी किया गया था.

इंडोनेशिया मे रामायण भी देखणे मिलता है

इंडोनेशिया मे गणेश भगवान के साथ साथ हमे और कही हिंदू देवता का मंदिर भी देखने मिलता है. साथ नही हमे यहापर रामायण भी देखने को मिलता है. इंडोनेशिया के स्थानिक कलाकार रामायण का मंचन भी करते है. जैसे हमारे तरफ ram-leela का आयोजन होता है उसी प्रकार यहापर रामायण का मंचन किया जाता है. Ganpati on currency का निर्णय लेने के लिए ये यहा कि सरकार को इसीलिए आसानी हुई.

कृष्ण अर्जुन की मुर्तिया स्थापित

इंडोनेशिया मे जहा मुस्लिम आबादी बहुत है फिर भी इस देश की संस्कृति भारत से काफी मिलती है. इंडोनेशिया मे सब जगह पर रामायण और महाभारत की कहानी सब लोग जानते है. जकार्ता स्केअर मेकृष्ण और अर्जुन की मुर्ती भी स्थापित की हुई है. यहा पर हिंदू और मुस्लिम दोनों अपने-अपने धर्म का आदर करते है सन्मान करते है. यही एक कारण है जिससे Ganpati on currency का सभी ने स्वागत किया.

13 वी शताब्दी मे फैला था हिंदू साम्राज्य

हिंदू साम्राज्य की जडे हमे विश्व के कही देश मे देखने को आज भी मिलती है.उसका प्रमाण हम इंडोनेशिया की और देखकर पा सकते है. तेरवी से 15 वी शताब्दी के बीच इंडोनेशिया मे हिंदू साम्राज्य का विस्तार देखने को मिलता है. पुरे शहर में भगवान विष्णु और शिवजी के मंदिर मौजूद है. भगवान गणेश जी का भी यह पूजन होता है इसीलिये Ganpati on currency को सभी ने स्वीकार किया था.

हमारी भाषा से मिलती है यहा की भाषा

इंडोनेशिया देश की भाषा हमारी भाषा से काफी मिलती मिलती है. इंडोनेशिया मे बहासा इंदोनेसिया भाषा बोली जाती है. जिसके काही शब्द हमारी हिंदी भाषा से मिलते है. किसी की वजहसे यहापर भाषा को लेकर व्यवहार मे कोई दिक्कत नही होती है. इंडोनेशिया मे 6 धर्म को मान्यता दी है. 1962 मे इंडोनेशिया मे हिंदू धर्म को मान्यता दि गई. जावा बाली और लोमबोक मे हिंदू धर्म के अनुयायी है. हिंदू धर्म का प्रतिनिधित्व करणे वाली संस्था परिषद हिंदूधर्म इंडोनेशिया 1964 सी अस्तित्व मे आई. हमारी संस्कृति यहापर देखने को मिलती है इसलिये. Ganpati on currency को अपनाया गया.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

4 × three =