रोग प्रतिकार शक्ती कैसे बढाये

दोस्तो कोरोना के ईस काल में हम सबको रोग प्रतिकार शक्ती का महत्व ध्यान मे आया है. जिसकी रोग प्रतिकार शक्ती अच्छी होती है वह बी मार नही होता है. यही रोग प्रतिकारक शक्ति का मुख्य कार्य है. आज हम जानते है immunity power यानी रोग प्रतिकारक शक्ती कैसे बढाये इसके बारे मे.

दुनिया भर में आज कोरोना फैला हुआ है. इसी के साथ हमारी रोग प्रतिकार शक्ती immunity power बढाने के लिए अनेक उपाय किये जा रहे है. डॉक्टर द्वारा रोगप्रतिकारशक्ती बढाने के लिए दवाई जा रही है. इस बात से यह खयाल मे आता है कि रोग प्रतिकार शक्ती हर इंसान के लिये बहुत जरुरी है.

Immunity power क्या है

प्रकृतीने हम सबको जो शरीर दिया है उसके रक्षण करने के लिए हर शरीर में immunity power यानी रोग प्रतिकार शक्ती भी दि है. जो हमे नुकसान देने वाले जीवाणू विषाणू और विविध बिमारी से बचाती है हमारा रक्षण करती है. मौसम के बदलने का कोई भी परिणाम रोग प्रतिकार शक्ती हमारे शरीर पर नही होने देती है. हमारे शरीर के लिए immunity power सुरक्षा कवच का काम करता है. जब बाहरी रोगाणुओं की तुलना में शरीर की रोगप्रतिरोधक क्षमता कमजोर पड़ती है, तो इसका असर सर्दी, जुकाम, फ्लू, खांसी, बुखार वगैरह के रूप में हम सबसे पहले देखते हैं.

Immunity power कम होने से क्या होता है

हमारे शरीर मे जब रोग प्रतिकार शक्ती कमी हो जाती है, immunity power कम होती है तब हमे बहुत से बिमारी का सामना करना पडता है. जानते है क्या है रोग प्रतिकार शक्ती immunity power कम होने के लक्षण….

1 रोग प्रतिकार शक्ती immunity power कम होने से शरीर में अनावश्यक चरबी जमा होती है.

2 अचानक वजन कम होने लगता है.

3 बाहरी खाना, फास्ट फूड, जंक फूड अधिक खाने से immunity power कम होती है.

4 नियमित मात्र मी शरीर को लगग्ने वाले पोषक तत्व यदि नही मिलते है तो immunity power कम हो जाती है.

5 शराब और नशीली चीजो का सेवन करणे पर रोग प्रतिकार शक्ती कमी होती है.

6 लंबे समय तक निंद नही लेना या फिर अनावश्यक रूप से ज्यादा देर तक सोना.

7 यदि जीवन मे तनाव के प्रसंग बहुत ज्यादा आते है उसका भी परिणाम होता है.

8 खाने का समय निश्चित ना होना, किसी भी समय खाना और कभी भी सोना, यह कारण रोग प्रतिकार शक्ती को घटाते है.

9 डॉक्टर कहते है यदि आप चिनी जादा खाते है तो वह आपके रोग प्रतिकारशक्ती के लिए हानिकारक हो सकता है.

कैसे बढाये immunity power

हमने यह तो देखा की किस कारण से शरीर की रोग प्रतिकार शक्ती कमी होती है.

1 हमारे नियमित आहार ने विटामिन ABCED की मात्रा पर्याप्त रखने की कोशिश करणी चाहिये.

2 हमारे खाने मे गाजर, पालक, टमाटर, फूलगोभी, चावल, शक्करकंद, संत्रा, पपिता, बादाम, दूध, दही, मशरूम, लौकी, तील इसके साथ हरी सब्जी होनी चाहिये.

3 दिन में कम से कम 8 से दस गिलास पाणी जरूर पिना चाहिये. सर्दी के मौसम मे भी इस नियम का पालन करना बेहतर होगा.

4 अच्छी नींद लेने से भी immunity power बढती है.

5 तनाव के कारण भी बिमारी हमारे शरीर में प्रवेश करती है इसलिये तणावमुक्त रहने का प्रयास करना चाहिये.

6 यदि कोई व्यक्ति बार-बार बिमार होता है तो यह समजना चाहिये कि उसके शरीर मे प्रोटीन की कमी है. ऐसे इंसान को बढाने वाली चीजे देनी चाहिये.

7 सर्दी के मौसम मे सुरज की रोशनी में शरीर को तेल मालिश करणे से शरीर को विटामिन डी मिलता है.

8 हमारे शरीर के लिए एंटी लहसुन बॅक्टरियल है.

9 ग्रीन टी पीने से रोग प्रतिकार शक्ती बढती है.

व्यायाम भी जरूरी

Immunity power को बढाने के लिए हमे योग और व्यायाम करना जरुरी है. व्यायाम से रोग प्रतिकार शक्ती होती है. रोग प्रतिकार शक्ति बढाने के लिए योगासन, प्राणायाम उपयुक्त है. रोज सवेरे के समय नियमित रूप से आधे से एक घंटे तक योगासन-प्राणायाम करने से शरीर के भीतर हार्मोन संतुलन कायम करने में मदद मिलती है. योगासन, खासतौर से प्राणायाम तनाव दूर करने में काफी मददगार हैं.

डिप्रेशन के बारे मे जा नने के लिए, नीचे दिये लिंक पर क्लिक करे.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

1 × 2 =