दोस्तो हमारी दुनिया बहुत सारे अजीबोगरीब बातो से भरी हुई है.  हम जितना अपनी दुनिया को जिते जायेंगे नही हमे नयी नयी बातो का पता चलते जायेगा. हमारी दुनिया मे कुछ ऐसे अजूबे मौजूद है जिसे देखकर हम सब अचरज मेँ पड जाते है. आज हम बात कर रहे है दुनिया के seven wonders के बारे मे.

चीन की दीवार China Wall

अवकाश से भी जो दिखती है ऐसी the great Wall of China दुनिया की सबसे लंबी दीवार है. इसे पाचवी शताब्दी से लेकर छटी शताब्दी तक बनवाया गया था. इसे बनाने के लिए लाखो मजदूरों की मेहनत का अाई है. चायना मी बनी यह दीवार 4000 मील लंबी है. मंगल के आक्रमण से बचने हेतू चायना ने यह दिवार बनवायी थी. दीवार को बनवाने मे किल का भी उपयोग किया गया है. इसके साथ ही दीवार को बनाने के लिए हे लिये पत्थर और रेत के साथ चावल का पानी भी इस्तेमाल किया गया है seven wonders यह दिवार चायना कि रेगिस्तान से लेकर, पहाडी से लेकर गुजरती है. आज के दौर में इस दीवार को देखने के लिए दुनिया भरसे लाखो सैलानी यहा आते है.

क्राइस्ट स्टॅच्यू

ब्राझील के रिया डी जनेरिओ के दक्षिण हिसे मे बने क्राइस्ट द रिडीमर स्टॅच्यू लगभग 98 की उचाई का है. इसका निर्माण  1931 मे पुरा हुआ था. स्टॅच्यू काँक्रीट से बनाया है और इसका लगभग 26 फूट की उचाई का है. ब्राझील के पेंडू शासक की बेटी राजकुमारी इसाबेल की याद में यह स्टॅच्यू बनवाया गया था. रिओ डी जेनेरियोके आर की डियो सिस्ने इस प्रतिमा का निर्माण पहाड के उपर करणे को कहा था. इसका कारण यह था कि पुरे शहर को यह स्टॅच्यू कही से भी नजर आहे. पोर्तुगाल से स्वतंत्र होने के बाद ब्राझील ने इस स्टॅचू का निर्माण किया.seven wonders कार्लोस ओसवाल और सिल्वा कोस्टामिस्टेक ने स्टेचू का डिजाइन बनाया था और मूर्तिकार पॉल लैंडोव्स्की ने स्टैचू के सर और हाथों को डिजाईन किया था. 

माचू पिच्छु

सोलवी शताब्दी मे इनका की शासन काल मे माचू पिच्छु का निर्माण किया गया. नाचू के साइड पर लगभग सो साल तक कोई नही गया था.स्पॅनिश के आक्रमण के बाद में माचू बंद कर दिया गया था. यहापर 150 बिल्डिंग है जिसके अंदर मंदिर घर बाथरूम और कुछ खंडर भी है. seven wonders मे world heritage  मे इसे युनेस्को द्वारा शामिल किया गया.

चीचेन इटजा

चालू की लोकप्रियता सबसे अधिक है. माया सभ्यता के बच्चे हुए अवशेष जो की युकाटन पेनिंसुला पर बने हुए है यहा हमे देखने मिलते है.  इस जगह पर गई पिरामिड मंदिर और खेल के मैदान हम देख सकते है. माया सभ्यता मे जटिल नियम के साथ सोसर बॉल का खेल खेला जाता था.seven wonders यहापर मौजूद कॉलम पर स्तंभ ऊपर अजीबोगरीब नक्काशी देखने को मिलती है. इसका निर्माण 800 से 1200  एडी मे हुआ. यहापर शूर्विर ओके मंदिर है और माया धर्म के के के रेकॉर्ड देखने को मिलते है.

रोमन कोलोसियम

रोम मे स्थित इस जगाह पर ग्लॅडिएटर इव्हेंट्स हुवा करते थे. अब यह क्षतिग्रस्त हो चुका है. इस जगह पर बार-बार भूकंप आते है seven wonders इसकी हानी हुई है. 70 से 80 एडी के बीच मे इष्क का निर्माण किया गया. दुनिया भर के सैलानी यहा पर हर वर्ष आते है.

ताजमहल

ताजमहल

दुनिया के seven wonders में शामिल ताजमहल का निर्माण मुगल शासक शाहजहां ने अपनी बेगम मुमताज महल की याद में उत्तर प्रदेश के आगरा शहर में किया था. इसकी वास्तु शैली फारसी, तुर्क, भारतीय और इस्लामी वास्तुकला के घटकों का अनोखा सम्मेलन है.  ताज महल के अंदर बगीचे, पूल और हरे भरे रास्ते बनाए गए हैं. इसका निर्माण मार्बल या संगेमरमर के द्वारा किया गया है। यह पर्यटकों के लिए एक बहुत ही पसंदीदा घूमने की जगह भी है जहां हर साल लाखों देशी और विदेशी पर्यटक ताजमहल की सुंदरता को देखने के लिए आते हैं. 

पेट्रा

दुनिया के seven wonders में से एक पेट्रा अपने शानदार वास्तुकला, ऐतिहासिक, और पुरातात्विक महत्व के लिए भी लोकप्रिय है. इस शहर की विशेषता चट्टानों से बनी वास्तुकला और जल प्रणाली है. पेट्रा यूनानी शैली की वास्तुकला से 300 बीसी में बनाया गया था और इसके लिए जाना जाता है.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

one × two =