हमारी यादो को संजोकर रखने का कार्य फोटो द्वारा किया जाता है.ऐसा कहा जाता है जो बात हजार शब्द नही कहते है वह एक फोटो कहता है. आज पुरे विश्व मे फोटो लगभग सभी लोग निकालते है. पूरे विश्व मे 19 अगस्त को विश्व फोटोग्राफी दिवस मनाया जाता है. आज हम जानते है World photography day के बारे मे.

आज का दौर मोबाईल का है. मोबाइल मे अच्छे कॉलिटी वाले केमेरे होने की वजह से जहा चाहे तब हम फोटो निकाल सकते है. फोटो हमारी यादो को ताजा रखते है. हमारे इतिहास को संभालते है.

World photography day history

World photography day के बारे मे जाने से पहले फोटोग्राफी का इतिहास जानना जरूरी है. जोसेफ नाईसफोर और लुईस डॉगेर इन दो वैज्ञानिको ने 9 जनवरी 1839 को डॉगोरोटाइप का शोध लगाया था. इस तंत्र द्वारा फोटोग्राफी की प्रक्रिया की जाती थी. तंत्रज्ञान को दुनिया के सामने 19 अगस्त 1839 मे फ्रान्स सरकारने लाया. इसी दिन से 19 अगस्त को World photography day मनाया जाता है. लेकिन इसे लोकप्रियता हाल ही मे यानी 2010 के बाद मे मिली.

2010 मे आयी जागरूकता

World photography day की शुरुवात हो कर आज 181 वर्ष पुरे हो गये है. लेकिन इसे लोकप्रियता 2010 के बाद मिली. इसके लिए ऑस्ट्रेलिया के एक फोटोग्राफर प्रयत्न कीये. ऑस्ट्रेलिया के फोटोग्राफर कोर्स्के आरा मी फोटोग्राफी का काम करने वाले सभी फोटोग्राफर को एकत्र किया. उन्होने लगभग 270 फोटोग्राफर को साथ लिया. और उनसे लिए गये तस्वीर को ऑनलाइन गॅलरी में उपलब्ध करा दिया. जिसे लोगोने काफी पसंद किया. इसके बाद हर् वर्ष पूरी दुनिया में World photography day मनाया जाने लगा.

जानते है फोटोग्राफी का अर्थ

World photography day पूरे विश्व के फोटोग्राफर मनाते है. हम जानते है फोटोग्राफी का अर्थ क्या होता है. फोटोग्राफी शब्द की उत्पत्ति ग्रीक शब्द फोटोज और ग्राफी न से हुई है. फोटो का मतलब प्रकाश और ग्राफीन का मतलब खिचना होता है. 1839 मे वैज्ञानिक जॉन डब्ल्यू हश्रेल ने फोटोग्राफी शब्द का इस्तेमाल किया.

फोटोग्राफी की प्रोसेस

World photography day का इतिहास बहुत पुराना है. फोटो निकालने के बाद पहले उसे प्रोसेस करणे मे काफी समय लगता था. फोटो प्रोसेस करने के लिए लगने वाली निगेटिव्ह पॉझिटिव्ह ब्रिटिश वैज्ञानिक विलियम हेनरी फॉक्सटेल ने खोजा था. 1834 मे tel bot टेल बोट ने सेंसिटिव पेपर का अविष्कार किया. जीस से खिचे हुए फोटो को स्थायी रूप मिला.

जानते है फोटोग्राफी का महत्व

हम इंसान को पुरानी यादव को खोजते रहना अच्छा लगता है. इसलिये हम जब भी समय मिलता है तब हमारे घर मे उपलब्ध फोटो अल्बम निकाल कर बैठे जाते है. हमे अपना ही रूप नीरखना अच्छा लगता है. इसीलिये यदि कोई हमारा अच्छा फोटो निकालता है तब हम बहुत खुश होते है. आज फोटोग्राफी के क्षेत्र में बहुत बदलाव आ गये है. आधुनिक तंत्र के साथ फोटो निकालना और उसे डेव्हलप करना भी आसान हो गया है. World photography day के अवसर पर हम अच्छे फोटो निकालते है.

फोटोग्राफी के दिन क्या करते है

दुनिया भर में फोटोग्राफी एक व्यवसाय बन गया है. विविध क्षेत्र मे फोटो का उपयोग किया जाता है. मिडीया, कृषी, शिक्षण, स्वास्थ्य, अर्थ, निसर्ग, पर्यावरण ऐसे क्षेत्र मे फोटोग्राफी का उपयोग किया जाता है. बहुत से लोगो ने फोटोग्राफी को अपना चरित्र का साधन भी बनाया है. इसीलिये World photography day के दिन कॅमेरे का पूजन किया जाता है. फोटोग्राफर एक साथ मिलकर अपने कॅमेरे का पूजन करते है.

फोटो से जुडा यादो का संबंध

फोटो हमारी यादो को संभालकर रखते है. फोटो हमारे इतिहास को वर्तमान मे जीवित करते है. इसलिये फोटो का महत्व बहुत अधिक है. हमारी संस्कृति और इतिहास को समृद्ध बनाने के लिए फोटो महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाते है. आज हम फोटो के माध्यम से दुनिया भर के कोई भी चित्र को देख सकते है. World photography day हे इस अवसर पर हम अपने अच्छे फोटो देखे और उसका आनंद ले सकते है.

Author

शिक्षा यानी education जो हमारे जीवन को संस्कारित करती है. हमारे जीवन को आकार देती है. प्रेरणा यानी motivation हमे हर परिस्थिती से लढणे का बल प्रदान करती है. Education and motivation ये दोनो शब्द हमारे जीवन में काफी महत्व रखते है. Education और motivation इस विषय को लेकर हिंदी मे ब्लॉग लिख रहा हू, जिसका नाम है worldtruthblog.

Write A Comment

two × 3 =